तुम माँ हो!

 

तुममाँहो

कोख मे पल राह बच्चा , अपनि  माँ से प्राथ्ना कर रहा है,

माँ ! क्या जुल्म किया है मैने , जो मुझे जन्म दे रहि हो ,

क्या पाप किया था मैने, जो मुझे जन्म दे रहि हो!!

माँ ! तुम मुझे वहाँ देखना चाहति हो,

जहा भय है , भुख है, भ्रस्ताचार है!

जो  नर्क है शरिफ़ इन्सानो के लिये,

जो स्वर्ग है सिर्फ़ शैतानो के लिये,

जहाँ धर्म और जात्-पात कि राजनीति मे,

मारे जाते है लाखो भाइ प्रतीवषँ 

जहा निरिह गरिब भुखे मरते है और ,

नेता लोग घोटालो कर अरबो कमाते है,

माँ ! जहाँ,

मन्दिर-मस्जिद्-गिर्जाघर की आपसी लड़ायी है,

हे प्रभु !! तुने ये कैसी स्रीष्टी र्रचायी है!

क्यु तुने वो तथाकथीत पुरनो मे वर्नित

अव्तार नही लिया………..

क्यु तु अब नही सोच्ता हम मानवो के लिये?

क्या? तेरे शब्द-कोश से भी,हम मनवो के तरह ही

दया, रहम शब्द हट गयी है

क्या हम मानवो की तरह हि

तुने भी समझौता कर लिया है ,

तो ! आशचर्य है प्रभु घोर आस्चर्य है,

बच्चा फ़िर,अपनि  माँ से प्राथ्ना कर रहता है,

माँ ,अगर तु ये पीछले जन्मो का कोइ

हीसाब ले रहे हो, तो मै छमा मांग्ता हुँ,

मुझे छमा  दान दो

मुझे जन्म मत दो, उस पापी भीड़ मे

मत खोने दो!

उस पापी भीड़ मे

मत खोने दो!

जहा मै खुद को भुल जाऊ

मानवता को भुल जाऊ

और उस पापी भीड़ का हिस्सा बन जाऊ,

और तो और माँ

फ़िर मै तुम्को भी भुल जाऊगा!

फ़िर तु पछतायेगी, बहुत पछ्तायेगी,

क्युकि मै जानता हुँ,

तु भावुक है, दयावान है

तु मम्तामयी मयी हो

अरे इस्लिये तो तुम माँ हो,

  Image

तुम माँ हो! तुम माँ हो!!!!

©विशाल श्रेस्ठ

 

8 thoughts on “तुम माँ हो!

    • ye maine 1996 may likha tha,
      fb pe post kar chuka hu
      dainik jagran aur mahakta aanchal may bhi salo pehle mere nam se chap chuka tha,
      is bar thoda sabd aur jor diya maine
      kavita to kalpana hoti hai
      sayad apke man ki kalpana is kavita se milti ho ya
      apne aesa hi kuch padha ho
      ya apne google may meri hi kavita padhi ho
      dhanyawad

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s