बर्फ़ी कि प्रांसगिकता और आँस्कर पुरस्कार

आँस्कर पुरस्कार कि नांमाकन के दौर से कहानि का पलायन काफ़ि दिलचस्प रहा। व्यक्तिगत रुप से मै बर्फ़ी का प्रसन्शक हुँ, किन्तु कहानि के सुन्दर पटकथा, विध्या बलान कि लाजवाब अदाकारि और कहानि का अपने-आप मे किसि का नकल ना होना, मै  बर्फ़ी के मुकाबले कहानि को आस्कर पुरस्कार कि दौर मे देखना पसन्द करता। अब चुकि बर्फ़ी को नामंकित कि ज चुका है तो उन सभि तथ्यो का खुलासा कर दु जिन्के कारण मुझे बर्फ़ी के चयन और पुरस्कार कि दौर मे विजेता होने पे शक है…….

Image

धुन्-  – इत्ति सि हसि- साउथ ओफ़ द बौउदर (१९६८) प्रसिद्ध अलबर्त कि धुन कि हु-ब​-हु नकल लग्ति है।

अंतरराष्‍ट्रीय फिल्‍मों के दृश्‍यों की हू-ब-हू नकल – बर्फी के ज्‍यादातर फनी स्टंट चार्ली चैपलिन और जैकि चेन की  फिल्‍मों के दृश्‍यों की हू-ब-हू नकल है।
बर्फी के ज्‍यादातर फनी स्टंट चार्ली चैपलिन और जैकि चेन की फिल्‍मों से लिए गए लग्ते  हैं। फिल्‍म के एक सीन में रणबीर यानी कि बर्फी सीढी पे चढ़कर उसे एक किनारे से दूसरे किनारे की तरफ घुमाता है जब पुलिस वाले उसका पीछा कर रहे होते हैं, यह सीन चार्ली चैपलिन की फिल्‍म कॉप्‍स(१९२२) से लिया गया है,
फ़िल्म के एक सीन में रणबीर एक दरवाजे को इधर-उधर घुमाते हुये पुलिस को चकमा देने की कोशिश करने का सीन भी चैपलिन की फिल्‍म एडवेंचरर (१९१७) से लिया गया है।
एक सीन में प्रियंका चोपड़ा और रणबीर कपूर सड़क के किनारे बैठकर सड़क पर एक कील रखकर आने-जाने वाली गाड़ियों का टायर पंक्चर करने की फिराक में रहते हैं. ये सीन दर्ज़नो फ़िल्मो मे देख| है, खास कर ताकेशी कितानो निर्देशित जापानी फिल्‍म किकुजीरो मे भि यहि सीन है।
जैकी चेन की फिल्‍म प्रोजेक्‍ट ए (१९८३) कि तरह बर्फी में एक जगह पुलिस रणबीर के पीछे पड़ी है और वो उनसे बचने के लिए साइकिल से भागते है और उसकि भि हु-ब्-हु नकल है।
द नोटबुक (२००४) से भि एक भावुक दृश्‍य कि नकल कि गयि है, जहां बीमार रणबीर के आखिरी छण में प्रियंका चोपरा उनके बगल में लेट जाती है, हद तो तब हो गयि जब – एक सीन जिसमें इलियाना डीक्रूज की मां उसे जंगल ले जाकर एक लकड़ी काटने वाले आदमी को दिखाकर बताती है कि वह उससे प्‍यार करती थी और उसके साथ भागना चाहती थी फिल्‍म द नोटबुक (२००४) से लिया गया है, इन्के अलावा भि इन्टरनेट पे काफ़ि सरि नकल कि खबर पोस्ट है,
सायद अनुराग बसु को ये पता नहि थि कि फ़िल्म इतनि हिट होगि और आस्कर कि होड़ मे शामिल होगि वरना थोड़ा ध्यान से नकल करते।

अब आस्कर पुरस्कार कि ज्युरि को इन फ़िल्मो कि जानकारि न हो एसा होना बहुत मुसकिल प्रतित होता है। एसे मे क्या क्या बर्फ़ी का चयन सहि है? मुझे तो नहि लगता, आपको क्या लगता है?
आप सबको ये बात बता दु कि यहा उप्लब्ध करायि गयि जानकारि केवल हिट फ़िल्मो कि नकल के बारे मे बतायि गयि है, कुछ फ़िल्मे एसी भि हो सकति है जिन्के बारे मे हमे और अपको जानकारि नहि हो।

नोट – सारि उप्लब्ध जानकारिया और चित्र गुगल और निव्ज चैनलो से लि गयि है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s