सनसनी -एंकर “अरबिंद केजरीवाल”

अरबिंद केजरीवाल ने सनसनी फैला रखी थी आज गडकरी पे बरा खुलाशा होगा! हुआ क्या? – खोदा पहार निकला चूहा! शाम होते ही, आरोप लगते ही बहस शुरू हो गया की केजरीवाल का दावा कितना सच्चा कितना झूठा!  (( मैं (विशाल ) यहाँ किसी के सपोर्ट  या विरोध में नहीं केवल श्री वाई पि सिंह के बातो पे आपका धयान खींचना चाहता हु |))

आज मीडिया में एक और खुलासा हुआ , आज बारी थी श्री वाई पी सिंह की,पूर्व आईपीएस ऑफिसर, सीनियर ऐडवोकेट और सामाजिक कार्यकर्ता वाई पी सिंह ने अरविंद  केजरीवाल पर केंद्रीय मंत्री शरद पवार को बचाने का आरोप लगाते हुए कई गंभीर सवाल खड़े किए। साथ ही उनके द्वारा लगाये गए आरोपों को भी गैर क़ानूनी बताया, उन्होंने ये भी कहा की केजरीवाल आरोप लगा  कर  भूल  जाते है , उसे अंजाम  तक  नहीं पहुचाते , इस तरह  की सस्ती राजनिति  नहीं करनी चाहिए, ये वही वाई पि सिंह है जो पूर्व में इंडिया अगेंस्ट करप्शन के अग्रिणी कार्यकर्ता थे और उन्होंने आदर्श घोटाला उजागर करके मुख्या-मंत्री तक को इस्तीफा देना पे मजबूर कर दिया था|

इंडिया अगेंस्ट करप्शन ने बताया था कि गजानन घडगे का गडकरी से (जमीन हथियाने )विवाद भी चल रहा है। हालांकि, खुद गजानन ने इन आरोपों को गलत बताया है। मराठी न्यूज़ चैनल से बातचीत में गजानन घडगे ने कहा कि बीजेपी अध्यक्ष से उनका कोई झगड़ा नहीं है। उन्होंने कहा कि गडकरी की वजह से तो हमें फायदा ही हुआ है।वाई पी सिंह ने केजरीवाल पर एक खास नेता को बचाने का आरोप लगाया है।

Image

वाई  पी सिंह ने अरविंद केजरीवाल के बुधवार के खुलासे पर हमला करते हुए कहा है कि उन्होंने नितिन गडकरी पर खुलासा कर सुप्रीम कोर्ट के आदेश की खिलाफत की है। उन्होंने अजित पवार, सुप्रिया सुले और शरद पवार के खिलाफ बड़े सबूत होने के बाद भी कोई खुलासा नहीं किया। सिंह को उम्मीद थी कि केजरीवाल बुधवार को शरद पवार को लेकर खुलासा करेंगे लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। उन्होंने अपने खुलासे में बड़े खिलाड़ियों का नाम नहीं लिया।मीडिया के पास जाकर केवल सनसनी फैलाना ही मकसद तो नहीं उनका |

सिंह ने आरोप लगाते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कृषि घोटाले में उपयुक्त डॉक्यूमेंट सामने नहीं रखे गए हैं। शरद पवार के खिलाफ खुलासे के लिए अरविंद केजरीवाल के पास काफी सबूत थे फिर भी उन्होंने ऐसा नहीं किया। अरविंद के बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी के खुलासे पर सिंह ने कहा कि केजरीवाल ने ये कहकर कि किसानों की जमीन किसानों को मिलनी चाहिए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश का विरोध किया है। जिस संदर्भ में केजरीवाल ने ऐसे बयान दिए वो गलत था। वो सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ था। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि जब अधिग्रहीत जमीन बच जाए तो उसका पब्लिक ऑक्शन होना चाहिए|

ईपी सिंह ने लवासा के मुद्दे पर खुलासा करते हुए कहा कि लवासा एक टाउनशिप है। ये एक निजी कंपनी है। सिंह ने शरद पवार के भतीजे अजित पवार पर आरोप लगाते हुए कहा कि अजित पवार ने साल 2002 में 348 एकड़ जमीन लेक सिटी को दे दी। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि 23 हजार रुपये प्रति महीने की दर से 348 एकड़ जमीन लवासा को 30 साल की लीज पर दे दी। जिसे आगे भी बढ़ाया जा सकता है।

उन्होंने आरोप लगाया कि वन टू वन निगोशिएशन में अजित पवार ने वो जमीन दे दी। आगे वाई पी सिंह ने खुलासा किया कि लेक सिटी कॉरपोरेशन में 20.81 फीसदी ज्वाइंट शेयर शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले और दामाद सदानंद सुले का है। सुप्रिया, अजित पवार की चचेरी बहन हैं। वाई पी सिंह के मुताबिक 10.4 फीसदी सुप्रिया और 10.4 फीसदी शेयर उनके पति सदानंद के हैं। सिंह के मुताबिक साल 2006 में सुप्रिया ने अपनी शेयर होल्डिंग बेच दी। हालांकि उस समय के रिवेन्यू डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी रमेश कुमार ने साफ कहा था कि ये जमीन कृष्णा वैली कृषि प्रोजेक्ट के लिए है। इसके बाद भी वो जमीन सुप्रिया को दे दी गई। नारायण राणे उस वक्त मंत्री थे।

शरद पवार पर आरोप लगाते हुए सिंह ने कहा कि शरद पवार केंद्रीय कृषि मंत्री हैं। उनका महाराष्ट्र के जमीन, टाउन, रोड के मामले में कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने इसमें भी हस्तक्षेप किया। सिंह ने आरोप लगाया कि लवासा में ‘एकांत’ नामका एक गेस्ट हाउस है। यहां शरद पवार ने अपने पावर का इस्तेमाल करते हुए राज्य के अमले को बुलाया और बैठक की। इस बैठक में फैसला लिया गया कि लावासा को जो मदद चाहिए वो दी जाए। सिंह ने कहा कि इस घोटाले को उजागर करने के लिए रमेश कुमार को विक्टिमाइज किया गया।

वाई पी सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि जो कुछ आज मैं प्रेसवार्ता में बता रहा हूं ये अरविंद केजरीवाल को कल अपनी प्रेस वार्ता में बताना चाहिए था। वाई पी सिंह ने कहा कि वो सुप्रिया और उनके पति सदानंद, नारायण राणे, शरद पवार और अन्य लोग जो इस कृषि घोटाले में शामिल हैं उनके खिलाफ केस करेंगे। वाई पी सिंह ने कहा कि उन्होंने इस मामले की जानकारी अन्ना हजारे को भी दी थी लेकिन शरद पवार के लिए अन्ना के दिल में सॉफ्ट कॉर्नर है।

 

                                                                                                                                         

 

 साभार –http://khabar.ibnlive.in.com/news/83982/1 & http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/16862948.cms

 

2 thoughts on “सनसनी -एंकर “अरबिंद केजरीवाल”

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s